शनिवार, 9 मई 2015

गर्मी मीठे फल है लाती

लाल लाल तरबूजे लाती,
गर्मी मीठे फल है लाती.

आम फलों का राजा होता,
बच्चों को मनभावन लगता.
मीठे पके आम सब खाते,
मेंगो शेक भी अच्छा लगता.

खरबूजा गर्मी में आता,
मीठा गूदा मन को भाता.
ठंडा करके जब यह खाते,
तन मन है हर्षित हो जाता.

गोल गोल अंडे सी लीची,
मीठा कितना गूदा होता.
नमक लगा कर जामुन खाओ,
इनका मज़ा अलग है होता.

हर मौसम का मज़ा है अपना.
हर मौसम कुछ अच्छा लाता.
लस्सी शेक व शरबत पी कर,
तन मन है ताज़ा हो जाता.

...© कैलाश शर्मा 

23 टिप्‍पणियां:

  1. वाह, गर्मी आती मीठे फल लाती

    उत्तर देंहटाएं
  2. बिल्कुल सही।हर मौसम का फल और उसका मजा।बहुत सुन्दर कविता शर्मा जी।अति सुन्दर।

    उत्तर देंहटाएं
  3. आपकी इस प्रविष्टि् के लिंक की चर्चा कल रविवार (10-05-2015) को "सिर्फ माँ ही...." {चर्चा अंक - 1971} पर भी होगी।
    --
    सूचना देने का उद्देश्य है कि यदि किसी रचनाकार की प्रविष्टि का लिंक किसी स्थान पर लगाया जाये तो उसकी सूचना देना व्यवस्थापक का नैतिक कर्तव्य होता है।
    --
    मातृदिवस की हार्दिक शुभकामनाओं के साथ।
    सादर...!
    डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक
    ---------------

    उत्तर देंहटाएं
  4. Very nice and lovely blog.If you are interested in following each others blog,please follow me and get followed back.Please write in comments also that you have followed my blog.Thanks .Love you.
    http://findshopping.blogspot.in/2015/04/top-online-shopping-sites-list.html

    उत्तर देंहटाएं
  5. सुन्दर बाल रचना ... गर्मी के फल बहुत मजेदार .. रचना की तरह ...

    उत्तर देंहटाएं
  6. गोल गोल अंडे सी लीची,
    मीठा कितना गूदा होता.
    नमक लगा कर जामुन खाओ,
    इनका मज़ा अलग है होता.
    गर्मी का भी अपना एक अलग मजा है ! लेकिन लीची इधर दिल्ली की तरफ महँगी बहुत होती है आदरणीय शर्मा जी ! बहुत ही सुन्दर शब्द ! एक एक पैराग्राफ पढ़ने लायक !

    उत्तर देंहटाएं
  7. पढ कर बचपन लौट आया है ।
    फल खा - खा कर हर्षाया है ॥

    उत्तर देंहटाएं
  8. itne saare chitru aapko kahan se mile? bahut hi achchie kavita hain.mujhe pasnd aaya.

    उत्तर देंहटाएं
  9. itne saare chitru aapko kahan se mile? bahut hi achchie kavita hain.mujhe pasnd aaya.

    उत्तर देंहटाएं
  10. सुन्दर व सार्थक प्रस्तुति..
    शुभकामनाएँ।

    उत्तर देंहटाएं
  11. गर्मी और बचपन का मिश्रण है...
    सुन्दर व सार्थक रचना प्रस्तुतिकरण के लिए आभार..
    मेरे ब्लॉग की नई पोस्ट पर आपका इंतजार...

    उत्तर देंहटाएं
  12. वाह, रसीले फलों की मिठास से लबरेज बालगीत पढ़कर मजा आ गया।

    उत्तर देंहटाएं
  13. बच्‍चों के लिए तो यह बहुत ही रसीली कविता है यह। उन्‍हें जरूर पसंद आएगी।

    उत्तर देंहटाएं
  14. बहुत ही शानदार पोस्ट .... bahut hi badhiya .... Thanks for sharing this!! :) :)

    उत्तर देंहटाएं
  15. बहुत ही सुन्दर रचना है....

    गर्मी के बारे में अलग सोच

    उत्तर देंहटाएं

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...